रसखान का जीवन परिचय PDF Download


Loots Deals OfferClick Here
Premium NotesJoin Telegram

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपके साथ रसखान का जीवन परिचय PDF शेयर करेंगे, जिसे आप इसी पोस्ट में नीचे दिए गये डायरेक्ट डाउनलोड लिंक के माध्यम से डाउनलोड कर सकते है|

रसखान के बारे में आप जरुर सुने होंगे, रसखान एक बहुत ही प्रसिद्ध कवी थे जिसकी कवितायेँ हमलोग अक्सर हिंदी भाषा के अध्ययन के दौरान पढ़ते है| रसखान एक मुसलमान कवी है लेकिन यह कृष्णभक्त थे| कृष्णभक्ति भी इसकी एक पहचान है| अगर आप रसखान के सम्पूर्ण जीवन परिचय को जानना चाहते है तो इस पोस्ट में शेयर किया गया पीडीऍफ़ आपके लिए बहुत ही उपयोगी हो सकता है|

रसखान का जीवन परिचय PDF

PDF Nameरसखान का जीवन परिचय PDF
LanguageHindi
No. of Pages5
PDF Size0.44 MB
CategoryHindi
QualityExcellent

रसखान का जीवन परिचय PDF Summery

1533 ईo जन्मे महान कवी रसखान अपने कविता लेखन के वजह से विश्व प्रसिद्ध है| इन्हें कविताओं को बहुत ज्यादा पसंद किया जाता है| और हमलोग इनकी कविता बचपन से ही हिंदी के पुस्तक में पढ़ते आ रहे है|

रसखान के माता का नाम मिश्री देवी था, और इनके पिता का नाम गंनेखां था| गोस्वामी विट्ठलदास जी इनके गुरु थे| रसखान हमेशा से ही कृष्णभक्ति में लीन रहते थे|

इनका मूल नाम सैयद इब्राहिम था लेकिन इसके कविताओं के वजह से इनको “रसखान” नाम का उपाधि दिया गया| यह धर्म से मुसलमान थे परन्तु यह कृष्ण भगवान से अनन्य भक्त भी थे|

रसखान का संक्षिप्त जीवन परिचय

नाम:रसखान
मूल नाम:सैयद इब्राहिम
जन्म:1533 ईo 
जन्म स्थान:दिल्ली
मृत्यु:1618 ईo
मृत्यु का स्थान:ब्रज
माता का नाम:मिश्री देवी
पिता का नाम:गंनेखां
गुरु:गोस्वामी विट्ठलदास जी
भक्ति: कृष्णभक्ति
कृतिया:सुजान रसखान तथा ‘प्रेमवाटिका’ 
उपलब्धि: ‘रसखान’ संज्ञा की उपाधि
साहित्य में योगदान:कृष्णभक्ति का काव्य में अत्यंत मार्मिक चित्रण

Download रसखान का जीवन परिचय PDF

नीचे दिए गए डाउनलोड बटन का अनुसरण करके आप रसखान से सम्पूर्ण जीवन परिचय को पीडीऍफ़ के रूप में डाउनलोड करके पढ़ सकते है|

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हमे आपके साथ रसखान का जीवन परिचय को पीडीऍफ़ के रूप में साझा किया, उम्मीद है कि इस पोस्ट में शेयर किया गया जानकारी आपको अवश्य पसंद आया होगा| अगर पोस्ट पसंद आया तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें|

Related Post-


Leave a Comment