NCERT Class 9 Science Chapter 2 in Hindi PDF

Through today’s post, you will be able to download NCERT Class 9 Science Chapter 2 in Hindi PDF for free using direct download link given below in this post.

पिछले पोस्ट में हमने कक्षा 9 विज्ञान विषय के प्रथम अध्याय को पीडीऍफ़ के रूप में साझा किया, और आज हु आपके लिए अध्याय को का पीडीऍफ़ नोट्स आपके लिए लेकर आये है, जिसे आप निशुल्क डाउनलोड करके पढ़ सकते है|

NCERT Class 9 Science Chapter 2 in Hindi PDF

PDF Nameक्या हमारे आस-आस के पदार्थ शुद्ध है PDF
LanguageHindi
No. of Pages13
PDF Size1 MB
CategoryClass 9
QualityExcellent

Class 9 Science Chapter 2: क्या हमारे आस-आस के पदार्थ शुद्ध है?

कक्षा 9 के विज्ञान विषय के अध्याय 2 का नाम “क्या हमारे आस-आस के पदार्थ शुद्ध है?” है| प्रथम अध्याय में हमने पढ़ा था, हामरे आप-पास के पदार्थ के बारे में| पदार्थ शुद्ध और अशुद्ध दोनों हो सकते है| इसीलिए हमलोग अपने दैनिक जीवन में जो सभी पदार्थ का इस्तेमाल करते है, वह शुद्ध है या नहीं इसका जानना बहुत ही आवश्यक है|

यहाँ पदार्थों की शुद्धता का आशय पदार्थो की मिलावट से है| अर्थात अगर किसी पदार्थ में कोई अन्य पदार्थ मिला हुआ है तो उस पदार्थ को अशुद्ध पदार्थ कहा जाता है| और जिस पदार्थ में मिलावट नहीं होती है उसे शुद्ध पदार्थ कहा जाता है| उदाहरण से हमलोग कुछ इस प्रकार समझ सकते है, अगर दाल में कंकर या अन्य कोई पदार्थ मिला हुआ है तो वह दाल अशुद्ध है, और वहीं दाल में अगर अन्य कोई पदार्थ मिला हुआ नहीं है तो वह बिलकुल शुद्ध पदार्थ है|

हमलोग अपने भोजन कई प्रकार के पदार्थो को मिलकर बनाते है, अगर आप पदार्थों की शुद्धता के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो आज के इस पोस्ट में शेयर किया गया पीडीऍफ़ आपके लिए बेहद ही लाभकारी हो सकता है|

Download क्या हमारे आस-आस के पदार्थ शुद्ध है PDF

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपके साथ NCERT Class 9 Science Chapter 2 in Hindi PDF शेयर किया, उम्मीद है कि इस पीडीऍफ़ नोट्स में दी गयी जानकारी आपको अवश्य पसंद आएगी| अगर पोस्ट पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करे|

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट-

Suraj Sharma

सूरज शर्मा इस ब्लॉग का एक लेखक है जो शिक्षा से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी को आसान भाषा में आपतक पहुचता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published.