[PDF] हूणों का इतिहास | History of the Huns PDF

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपलोगों के साथ हूणों का इतिहास (History of the Huns PDF) को शेयर करने वाले है, जिसे आप नीचे दिए गए डाउनलोड बटन की मदत से फ्री में डाउनलोड कर सकते है|

विश्व के विभिन्न क्षेत्रो में अधिक घुमक्कर और लड़ाकू कबीला हुआ करते थे, जैसे नोमेड, नैकिंग, गौत, कचाक और हुण आदि| ये घुमक्कर लड़ाकू कबीले इतनें खतरनाक होते थे कि ये जिस राज्य से गुजरते उसे तहस-नहस और बर्बाद करके रख देते थे| आज शेयर करेंगे इन्हीं में से एक खतरनाक कबीला हूणों के बारे में|

History of the Huns PDF

हुण मध्य एशिया में चीन के नजदीक रहने वाले एक जंगली और बर्बर जनजाति के थे| कुछ कारणों से यह जनजाति दो भागों में बट गई, इनका एक हिस्सा गोलका नदीं के तरफ गया और दूसरा हिस्सा फारस| उन्होंने फारस पर आक्रमण किया और उसे तहस नहस कर के रख दिया| फिर उसके वे अफगानिस्तान के तरफ बढ़े और ईरान पर आक्रमण कर के गंधार पर कब्जा कर लिया| इतना ही नहीं फिर हूणों ने भारत पर घुसे और उन्होंने शक और कुषाण राज्यों को नष्ट कर दिया|

458 ई. में उन्होंने गुप्त साम्राज्य पर आक्रमण किया और उस समय गुप्त वंश में कुमार गुप्त राजा था| इस युद्ध का संचालन कुमार गुप्त के पुत्र स्कन्द गुप्त ने किया था| स्कन्द गुप्त ने हूणों को बहुत बुरी तरह पराजित किया और इससे निराश होकर वह ईरान के तरफ चले गए और ईरान को तहस-नहस कर दिया| जब तक स्कन्द गुप्त जीवित रहा, उसनें हूणों को भारत में जमने नहीं दिया| लेकिन 30 वर्ष बाद हूणों ने अपने नायक तोरमाण और उसके पुत्र मिहिरगुल के नेतृत्व में वह एक बार फिर भारत पर आक्रमण किया| लेकिन स्कन्द गुप्त के बाद गुप्त वंश में ऐसा कई भी राजा नहीं हुआ जो हूणों को रौक सके|

6ठी. सदी के सुरु में हूणों ने गुप्त वंशों को भारत से उखार फेका और भारत के उत्तर-पच्छिम में कब्जा कर लिया| उन्होंने पंजाब के स्यालकोट को अपनी राजधानी बनाई| जैसे कि मैंने हूणों के बारे में ऊपर में बताया कि वे जहाँ भी जाते थे उसे तहस-नहस कर देते थे और यह चीज भारत में दिखने लगा| हूणों की प्रवरता ऐसे ही पता चलती है वे लोग कई प्राचीन इमारते, मठ और ग्रंथो को नष्ट कर दिया, जिससे हमें बहुत सारी जानकारियाँ प्राप्त हो सकती थी|

गुप्त साम्राज्य के नष्ट होने के बाद, भारत की राजनेतिक एकता भी नष्ट हो गई और पूरा साम्राज्य छोटे-छोटे राज्य में बट गया| इन्होंने तक्षशिला और मथुरा में भी जमकर लूटपाट की और हत्यायें की, कई जैन स्तूपों को भी नुकसान पहुचायाँ, कई संस्कृत किताबे जला दी और भारत के संस्कृति को भी नुकसान पहुचायाँ|

हूणों के प्रति आतंक को देखतें हुए मालवा के राजा यशोवर्मन और ब्लादित ने मिलकर हूणों पर आक्रमण किया और 528 ई. में उन्हें पराजित कर दिया| इस युद्ध के बाद हूणों का अत्याचार भारत से खत्म हो गया और वे पराजित होकर मध्य एशिया ही गए और उन्होंने धर्म परिवर्तन कर के भारत में ही बसने का फैसला किया|

यदि आप इसका पीडीऍफ़ चाहते है तो नीचे डाउनलोड बटन में क्लिक करके डाउनलोड कर सकते है|

History of the Huns PDF: Overview

PDF NameHistory of the Huns PDF
LanguageHindi
No. of Pages2 Pages
Size321 KB
CategoryHistory
QualityExcellent

Download हूणों का इतिहास PDF

नीचे डाउनलोड बटन पर क्लिक कर इस पीडीऍफ़ को को डाउनलोड कर सकते है|

इस पोस्ट के माध्यम से History of the Huns PDF को शेयर किया है, उम्मीद है आप सभी को यह पसंद आया होगा| यदि यह आपके लिए मददगार रही हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें| या आपके मन में सवाक है तो हमें कमेंट करके बता सकते है|

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट:-

Writing Team

Leave a Reply

Your email address will not be published.